माननीय मुख्य न्यायाधीश
माननीय मुख्य न्यायाधीश श्री रवि मलिमठ
(जन्मतिथि.25.05.1962)
कार्यअवधि: (DoA)14.10.2021 to (DoR)24.05.2024
१४.१०.२०२१ को मध्य प्रदेश के मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त
प्रोफाइल


माननीय मुख्य न्यायाधीश ,  श्री रवि मलिमठ

आपका जन्म 25.05.1962 को कर्नाटक के सबसे प्रतिष्ठित परिवारों में से एक में हुआ। आपके दादा जी स्वर्गीय न्यायमूर्ति एस० एस० मलिमठ एक स्वतंत्रता सेनानी एवं कर्नाटक के एकीकरण के संघर्ष में पथप्रदर्षक थे। उन्होंने बेलगाम और कासरगोड़ जिलों से संबधित अंतर-राज्यीय सीमा विवाद समिति के अध्यक्ष के रूप में राज्य के लिए उत्कृष्ट कार्य किया। वह मैसूर (अब कर्नाटक) के उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में नियुक्त होने वाले पहले दो न्यायाधीशों में से एक थे।

आपके नाना जी स्वर्गीय डॉ० एस० सी० नंदीमठ, धर्मशास्त्र, भाषाविज्ञान, पुरालेख, संस्कृत और कन्नड़ के प्रतिष्ठित विद्वान थे। उन्हें लंदन विश्वविद्यालय द्वारा “शैवागम के धर्मशास्त्र” विषय पर डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया था। उन्होंने अपना जीवन शिक्षा के लिए समर्पित कर दिया और उत्तरी कर्नाटक के पिछड़े क्षेत्रों में विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों की स्थापना की। वे एक प्रसिद्ध प्रोफेसर और प्राचार्य थे, जो बाद में कर्नाटक विश्वविद्यालय के कुलपति बने।

आपके पिता स्वर्गीय डॉ० न्यायमूर्ति वी० एस० मलिमठ को अब तक के सर्वश्रेष्ठ मुख्य न्यायाधीश में से एक माना जाता है। वह कर्नाटक उच्च न्यायालय और बाद में केरल उच्च न्यायालय के प्रसिद्ध मुख्य न्यायाधीश रहे। उन्होंने विधिक व्यवस्था के सुधार के लिए स्मरणीय योगदान दिया है। वह एरियर समिति, आपराधिक न्याय प्रणाली में सुधारों पर बनी समिति इत्यादि के अध्यक्ष रहे।

माननीय न्यायमूर्ति श्री रवि मलिमठ ने एम० ई० एस० कॉलेज, बैंगलोर से वाणिज्य में स्नातक किया एवं श्री जगद्गुरू रेणुकाचार्य विधि महाविद्यालय से विधि की उपाधि प्राप्त की। तत्पश्चात वह अधिवक्ता श्री शिवराज पाटिल के चेम्बर में शामिल हो गए, जिन्हें बाद में कर्नाटक उच्च न्यायलय के न्यायाधीश एवं तत्पश्चात भारत के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायधीश के रूप में पदोन्नत किया गया। आपने कानून के सभी क्षेत्रों जैसे संवैधानिक, सिविल, आपराधिक, श्रम और सेवा मामलों में वकालत की। आप 18.02.2008 को कर्नाटक उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश एवं 17.02.2010 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए। आपके द्वारा कई ऐतिहासिक निर्णय दिए गए। 18.02.2008 से 02.03.2020 तक कर्नाटक उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में, आपने 44,886 प्रकरणों में अंतिम निर्णय दिया है। आंकड़े दर्शाते हैं कि यह राज्य में सबसे ज्यादा निपटान में से एक है। कर्नाटक उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में, आपने कई जिलों के प्रशासनिक न्यायाधीश के रूप में बहुत प्रभावी ढंग से काम किया। आपने विभिन्न प्रशासनिक समितियों की अध्यक्षता की। आप 01.05.2017 से 26.01.2018 तक बैंगलोर मध्यस्थता केन्द्र के अध्यक्ष रहे। आप 27.11.2018 से 12.01.2020 तक कर्नाटक न्यायिक अकादमी के अध्यक्ष रहे। आप 06.10.2019 से 04.03.2020 तक कर्नाटक राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकारी अध्यक्ष रहे। आपको उत्तराखंड उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में स्थानांतरित किया गया एवं 05.03.2020 को शपथ दिलाई गई। आप 13.05.2020 से उत्तराखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त हुए। आप 28.07.2020 से उत्तराखंड के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए। आपके द्वारा उत्तराखंड में न्यायपालिका की बेहतरी के लिए कई सुधार किए गए। 149 दिनों की अल्प अवधि में आपने 1501 मामलों में अंतिम निर्णय दिया।

स्थानान्तरण होने पर 07.01.2021 को आपने हिमाचल प्रदेश के उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में शपथ ग्रहण की। दिनांक 25.02.2021 को आप हिमाचल प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में नियुक्त हुए। आपने दिनांक 01.07.2021 से मुख्य न्यायाधीश (कार्यवाहक) का पदभार ग्रहण किया।

इस अवधि में न्यायिक के साथ-साथ प्रशासनिक क्षेत्र में भी, कई सुधार किए गए। जिला बिलासपुर के झंडुत्ता एवं जिला कांगड़ा के जयसिंहपुर में, व्यवहार न्यायाधीश के नवीन न्यायालय प्रारंभ किये गए। सरकाघाट, जिला मण्डी में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश का न्यायालय भी प्रारंभ किया गया। जिला सोलन के अर्की में एक नवीन न्यायिक न्यायालय परिसर की आधारशिला भी रखी गई।

जिला न्यायपालिका से संबंधित पदोन्नति मामले जो लंबित पड़े थे, उन्हें भी निपटाया गया। जिला न्यायपालिका में रिक्त पदों को भरने के लिए नियमों का भी अनुमोदन किया गया है। उच्च न्यायालय के साथ-साथ समूचे राज्य के विचारण न्यायालयों में दिनांक 09.08.2021 से भौतिक सुनवाई फिर से प्रारंभ की गई। न्यायालय के 105 कार्य दिवस में आपने 1,511 मुख्य मामलों का निपटारा किया। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि इस अवधि के दौरान 29 मामले जो 10 वर्ष से अधिक पुराने हैं और 128 मामले जो पांच वर्ष से अधिक पुराने हैं, का निपटारा किया गया।

आपको मध्य प्रदेश के उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत एवं स्थानांतरित किया गया एवं आपने 14.10.2021 को पद की शपथ ग्रहण की।

माननीय न्यायाधीश
माननीय न्यायमूर्ति श्री शील नागु
(जन्मतिथि.01.01.1965)
कार्यअवधि: (DoA)27.05.2011 to (DoR)31.12.2026
प्रोफाइल



माननीय न्यायमूर्ति श्री शील नागु,  B.Com., LL.B.

आपका जन्म 1 जनवरी, 1965 को हुआ। 5 अक्टूबर, 1987 को आप अधिवक्ता के रूप में नामांकित हुए। मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय, जबलपुर के समक्ष व्यवहार एवं संवैधानिक पक्षों का अभ्यास किया। 27 मई, 2011 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में तथा 23 मई, 2013 को स्थाई न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय न्यायमूर्ति श्री सुजॉय पॉल
(जन्मतिथि.21.06.1964)
कार्यअवधि: (DoA)27.05.2011 to (DoR)20.06.2026
प्रोफाइल



माननीय न्यायमूर्ति श्री सुजॉय पॉल,  बी.काॅम., एम.ए.(अर्थषास्त्र), एल.एल.बी.,

आपका जन्म 21 जून, 1964 को हुआ। वर्ष 1990 को अधिवक्ता के रूप में नामांकित हुए। मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय , जबलपुर के समक्ष व्यवहार, संवैधानिक पक्षों तथा सेवा मामलों का अभ्यास किया। 27 मई, 2011 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश तथा 14 अप्रैल, 2014 को स्थाई न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय न्यायमूर्ति श्री रोहित आर्या
(जन्मतिथि.28.04.1962)
कार्यअवधि: (DoA)12.09.2013 to (DoR)27/04/2024
प्रोफाइल



माननीय न्यायमूर्ति श्री रोहित आर्या,  B.A., LL.B.

प्रोफाइल-

न्यायाधिपति रोहित आर्या, मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय खण्डपीठ ग्वालियर ने 12.09.2013 को उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में तथा 26.03.2015 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में शपथ ग्रहण की। आपकी जन्मतिथि 28.04.1962 है, वर्ष 1984 को आप एक अधिवक्ता के रूप में नामांकित हुए, 26 अगस्त, 2003 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा वरिष्ठ अधिवक्ता के रूप में नामित किया गया। आपने 29 से अधिक वर्षों तक व्यवहार विधियों, व्यवहारिक, वाणिज्यिक (निगम-न्यास इत्यादि), माध्यस्थम (अंतर्राष्ट्रीय/ घरेलू), प्रशासनिक, सेवा, श्रम विधियों, कर विधियों का अभ्यास किया, अनेकों व्यक्तियों एवं निकायों यथा केन्द्र शासन, एस० बी० आई०, दूरसंचार विभाग, बी० एस० एन० एल०, कर्मचारी राज्य बीमा निगम, आयकर विभाग का प्रतिनिधित्व किया।

अभ्यास के क्षेत्र-

  • व्यवहार विधियाँ
  • सेवा व श्रम विधियाँ
  • संवैधानिक विधि
  • प्रशासनिक विधि
  • कर विधियाँ
  • निगमीय व वाणिज्यिक विधि
  • मध्यस्थता (अंतर्राष्ट्रीय/ घरेलू)
  • अपीलीय व्यवहार वाद (उच्च न्यायालय व सर्वोत्त्म न्यायालय)

व्यवसायिक अनुभव-

  • 2007 उतरोत्तर, सर्वोच्च न्यायालय में, मध्य प्रदेश राज्य हेतु, वरिष्ठ अधिवक्ता सूची में नांमाकित।
  • 1999-2012 आयकर विभाग हेतु मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय में स्थायी अधिवक्ता।
  • 2009- 2012 आयकर विभाग हेतु छत्तीसगढ़ राज्य में वरिष्ठ स्थायी अधिवक्ता।
  • 1994-2000 केन्द्रीय प्रशासनिक अधिकरण में केन्द्र सरकार हेतु स्थायी अधिवक्ता।
  • 2003-2013 भारत संचार निगम लिमिटेड हेतु, मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय केन्द्रीय प्रशासनिक अधिकरण खंडपीठ जबलपुर में स्थायी अधिवक्ता।
  • 1991-2003 मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय/ केन्द्रीय प्रशासनिक अधिकरण खण्डपीठ जबलपुर के समक्ष दूर संचार विभाग का प्रतिनिधित्व।
  • विभिन्न बैंकों का प्रतिनिधित्व।

आप 16 सितम्बर, 2013 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय में न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए व 26.03.2015 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय न्यायमूर्ति श्री अतुल श्रीधरन
(DoB.24/05/1966)
कार्यअवधि: (DoA)07/04/2016 to (DoR)23/05/2028
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री अतुल श्रीधरन

आपका जन्म दिनांक 24 मई, 1966 को हुआ। आप 1992 में वरिष्ठ अधिवक्ता श्री गोपाल सुब्रमनियम के दिल्ली स्थित कार्यालय से जुडे़। 1997 तक संलग्न रहे। इस दौरान आपने उन्हें सर्वोच्च न्यायालय, उच्च न्यायालय दिल्ली व दिल्ली के अधीनस्थ न्यायालयों में विभिन्न व्यवहार व आपराधिक मामलों में सहयोग किया। 1997 से दिसम्बर, 2000 तक आपने दिल्ली में स्वतंत्र अभिभाषक के रूप में कार्य किया। 2009 में आप स्थान परिवर्तन कर इंदौर चले गए व मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय खंडपीठ इंदौर के समक्ष स्वतंत्र व निरंतर रूप से अभिभाषक के रूप में कार्यरत रहे। आप श्री सत्येन्द्र कुमार व्यास वरिष्ठ अधिवक्ता इंदौर के साथ भी घनिष्ठ रूप से संबंधित रहे। आपने स्वतंत्र रूप से भी विचारण न्यायालय व उच्च न्यायालय के समक्ष आपराधिक व कुछ व्यवहार प्रकरण, उच्च न्यायालय के समक्ष सेवामामले व रिट याचिका, उपभोक्ता फोरम के समक्ष चिकित्सकीय लापरवाही संबंधी प्रकरणों में पैरवी की। आप 04.10.2002 से 2012 तक मध्य प्रदेश गृह निर्माण मण्डल हेतु सूचीबद्ध रहे। 2001 से 2003 तक मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की खंडपीठ इंदौर के समक्ष मध्य प्रदेश राज्य के नामित अधिवक्ता के रूप में प्रतिनिधित्व किया। अक्टूबर 2003 से फरवरी 2004 तक उच्च न्यायालय मध्य प्रदेश खंडपीठ इंदौर के समक्ष शासकीय अधिवक्ता के रूप में मध्य प्रदेश राज्य की ओर से प्रतिनिधित्व किया। 2004 से जुलाई 2012 तक केन्द्रीय विद्यालय संगठन के पैनल में रहे। भारत संघ की ओर से प्रकरणों में उपस्थित होने हेतु दिनांक 19.09.2005 को केन्द्रीय शासकीय अधिवक्ता के रूप में नियुक्त हुए तथा 19.09.2008 तक कार्य किया। भारत संघ के प्रकरणों में उपस्थित होने हेतु दिनांक 19.02.2010 को केन्द्रीय शासकीय अधिवक्ता (वरिष्ठ पैनल) के रूप में नियुक्त हुए तथा 19.02.2013 तक कार्य किया। दिनांक 17 अप्रैल, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश तथा 17 मार्च, 2018 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय न्यायमूर्ति श्री सुश्रुत अरविन्द धर्माधिकारी
(DoB.08.07.1966)
कार्यअवधि: (DoA)07/04/2016 to (DoR)07/07/2028
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री सुश्रुत अरविन्द धर्माधिकारी

आपका जन्म 8 जुलाई, 1966 को रायपुर में हुआ। आपने विधि की दीवानी, दांडिक और संवैधानिक शाखाओं में अभ्यास किया। मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर में अधिवक्ता के रूप में 24 वर्षों का अनुभव। 7 अप्रैल, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश तथा 17 मार्च, 2018 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त। व्यवसायिक अनुभवः - आपने सन् 1992 में मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर में वरिष्ठ अधिवक्ता श्री वाई० एस० धर्माधिकारी (पूर्व मध्य प्रदेश के पूर्व महाधिवक्ता) के कनिष्ठ के रूप में इस व्यवसाय में पदार्पण किया। आप सन् 2000 से 2015 तक भारत संघ, आयकर विभाग, भारतीय रिजर्व बैंक के स्थायी अधिवक्ता तथा केन्द्रीय आबकारी विभाग, जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक होशंगाबाद, सार्वजनिक क्षेत्र के विभिन्न उपक्रमों, केन्द्रीय विद्यालय संगठन, बी० एस० एन० एल० तथा भोपाल गैस पीड़ित प्राधिकरण के कल्याण आयुक्त के लिए वरिष्ठ स्थायी अधिवक्ता रहे।

माननीय न्यायमूर्ति श्री विवेक रूसिया
(DoB.02.08.1969)
कार्यअवधि: (DoA)07/04/2016 to (DoR)01/08/2031
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री विवेक रूसिया

आपका जन्म दिनांक 02.08.1969 को जबलपुर में हुआ। बी० एस० सी० तथा एल० एल० बी० की उपाधियाँ प्राप्त करने के उपरांत, आप दिनांक 08.08.1992 से मध्य प्रदेश राज्य अधिवक्ता परिषद में एक अधिवक्ता के रूप में नामांकित हुए। आपके पिता स्वर्गीय प्रभाकर रूसिया मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर में वरिष्ठ अधिवक्ता थे। आपने वरिष्ठ अधिवक्ता स्वर्गीय श्री पी० सदाशिवन नायर, वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीमति इंदिरा नायर तथा श्री राजेन्द्र मेनन वर्तमान में मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के प्रशासनिक न्यायाधीश के कार्यालय में सहायक अधिवक्ता के रूप में अपना अभ्यास आरंभ किया। आपने अपना स्वतंत्र अभ्यास वर्ष 1998 से प्रारंभ किया तथा शीघ्र ही आप कोल इंडिया लिमिटेड, साउथ इस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड, बेस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड, नादर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड, मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड, मध्य प्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी लिमिटेड, मध्य प्रदेश पावर मैनेजमैंट कंपनी लिमिटेड, मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी, मध्य प्रदेश गृह निर्माण एवं अधोसंरचना विकास बोर्ड, मध्य प्रदेश लघु उद्योग निगम, नगर पंचायत/ मंडी शहपुरा, जिला सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक मर्यादित पन्ना/ सिड़की/ सतना (मध्य प्रदेश), छावनी परिषद जबलपुर (सन् 1998 से 2008 तक), जबलपुर विकास प्राधिकरण (सन् 2000 से 2004 तक) आदि के पैनल में सम्मलित कर लिए गए। आपको मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर के समक्ष प्रकरणों में भारत संघ की ओर से उपस्थित होने हेतु भारतीय सरकार द्वारा तीन वर्षों के लिए स्थायी अधिवक्ता के रूप में नियुक्त किया गया। आपने मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के समक्ष दीवानी, आपराधिक, संवैधानिक, सेवा, राजस्व, कर, माध्यस्थम आदि प्रकरणों में मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के समक्ष पैरवी की है। आप उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ जबलपुर के संयुक्त सचिव के रूप में चुने गए। आप उच्च न्यायालय के साथ ही जिला अधिवक्ता संघ, जबलपुर के आजीवन सदस्य थे। आप दिनांक 7 अप्रैल, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश तथा दिनांक 17 मार्च, 2018 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किए गए।

माननीय न्यायमूर्ति श्री आनंद पाठक
(DoB.18.07.1968)
कार्यअवधि: (DoA)07/04/2016 to (DoR)17/07/2030
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री आनंद पाठक

आपका जन्म 18 जुलाई, 1968 को छतरपुर, मध्य प्रदेश में हुआ। आपने मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के समक्ष व्यवहार, संवैधानिक, राजस्व, आपराधिक, संविदात्मक तथा सेवा मामलों का अभ्यास किया। 07 अप्रैल, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में तथा 17 मार्च, 2018 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।
व्यवसायिक अनुभवः -
* वर्ष 2005 से 2009 तक महाधिवक्ता कार्यालय में शासकीय अधिवक्ता के रूप में कार्य किया।
* पश्चिमी रेलवे, भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम, कर्मचारी भविष्य निधि, मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड, हिंदुस्तान लीवर, आई० सी० आई० सी० आई०, एच० डी० एफ० सी०, विक्रम विश्वविद्यालय इत्यादि के लिए अधिवक्ता के रूप में नियमित रूप से उपस्थित हुए।
* निरंतर एवं स्थायी लोक अदालत के साथ राष्ट्रीय लोक अदालत में भी 7-8 वर्षों के लिए भाग लिया एवं सदस्य के रूप में बैठक की।
* कुछ महत्वपूर्ण जनहित याचिकाओं, जहाँ जनसमूह के हितों को अत्यधिक प्रचारित किया गया था, में अधिवक्ता के रूप में उपस्थित हुए।
* आप स्नातक में राष्ट्रीय योग्यता छात्रवृत्ति प्राप्त की एवं एम० ए० (इतिहास) के मेघावी छात्र रहे।
* फ्लाइंग क्लब से छात्रवृत्ति के आधार पर निजी पायलट लाइसेंस (पी० पी० एल० पाठ्यक्रम) प्राप्त किया।
* कुशल खिलाड़ी। क्रिकेट (राष्ट्रीय स्तर), हॉकी एवं वॉलीबाल (राज्य स्तर एवं महाविद्यालय स्तर) में भाग लिया।
* सत्र 2010-11 (उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ इंदौर का स्वर्ण जयंती वर्ष) के लिए उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ, इंदौर के सचिव रहे।
* विभिन्न विषयों पर कई लेखों के लेखक एवं इंदौर के विभिन्न विधि महाविद्यालयों एवं विभिन्न शैक्षणिक/ सामाजिक सांस्कृतिक संगठनों में लगातार व्याख्यान दिये एवं भारतीय लोकप्रशासन संस्थान, नई दिल्ली के आजीवन सदस्य।

माननीय न्यायमूर्ति श्री विवेक अग्रवाल
(DoB.28/06/1967)
कार्यअवधि: (DoA)07/04/2016 to (DoR)27/06/2029
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री विवेक अग्रवाल

माननीय श्रीमती न्यायमूर्ति नंदिता दुबे
(DoB.17.09.1961)
कार्यअवधि: (DoA)07/04/2016 to (DoR)16/09/2023
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्रीमती नंदिता दुबे

आपका जन्म 17 सितम्बर, 1961, को मध्य प्रदेश राज्य के ग्वालियर जिले में हुआ। आपने सिविल, आपराधिक एवं संवैधानिक मामलों में उच्च न्यायालय मध्य प्रदेश में वकालत की। आप विभिन्न भारतीय विधियों, कानूनी प्रथाओं और प्रक्रियाओं से अच्छी तरह से परिचित है। आप एक स्वतंत्र अधिवक्ता के रूप में उच्च न्यायालय, जिला स्तर के न्यायालयों और विभिन्न अधिकरणों/ आयोगों इत्यादि के समक्ष उपस्थित हुयी और प्रकरणों का सफलतापूर्वक निपटान किया। विशेष रूप से निम्नलिखित विषयों की विभिन्न विधियों, प्रथाओं और प्रक्रिया का आपको पर्याप्त ज्ञान हैः भारत के संविधान के अनुच्छेद 226 एवं 227 तहत रिट याचिका/ सहित संवैधानिक मामले। बैकों और वित्तीय संस्थानों के लिये ऋण- वसूली से संबंधित मामले जैसे कि बैंकों और वित्तीय संस्थानों को शोध्य वसूली अधिनियम ;क्त्ज्द्धए बैंकिंग विनियमन अधिनियम, राज्य वित्तीय निगम अधिनियम, परक्राम्य लिखत अधिनियम, रूग्ण औद्योगिक कंपनी अधिनियम आदिए ै।त्थ्।थ्ैप् अधिनियम में विशेषज्ञता। व्यवहार प्रक्रिया संहिता, मध्य प्रदेश भू राजस्व संहिता, माध्यस्थम और सुलह अधिनियम, उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, भागीदारी अधिनियम, भारतीय उत्तराधिकार अधिनियम, भारतीय संविदा अधिनियम, मध्य प्रदेश स्थान नियत्रंण अधिनियम आदि सहित सिविल मामले। दण्ड प्रक्रिया संहिता, एवं भारतीय दण्ड संहिता, साक्ष्य अधिनियम आदि सहित आपराधिक मामले। विभिन्न निगमित मामले जिनमें कंपनी अधिनियम, आयकर, वाणिज्यिक कर अधिनियम, उत्पाद शुल्क आदि, औद्योगिक विवाद अधिनियम, मध्य प्रदेश औद्योगिक संबध अधिनियम आदि सहित औद्योगिक तथा श्रम मामले। स्थायी अधिवक्ता आई० एफ० सी० आई० लिमिटेड, मध्य प्रदेश गृह निमार्ण मण्डल, एच० डी० एफ० सी० बैंक, युनियन बैंक, टाटा मोटर्स फाइनेंस लिमिटेड, टाटा मोटर्स लिमिटेड, सी० आई० टी० आई० फाइनेंशियल्स, के० एस० आइल्स लिमिटेड, टी० वी० एस० मोटर्स लिमिटेड, इंडियाबुल्स् फाइनेंशियल्स लिमिटेड, इसके अलावा कैडबरी लिमिटेड एग्रो साल्वेंट प्रोडक्ट्स जैसे अन्य कई कॉरपोरेट पक्षधारों का सफलतापूर्वक प्रतिनिधित्व किया। मानवाधिकार संबंधी ”कोर कंसल्टेटिव ग्रुप“ के माननीय सचिव के रूप में नियुक्त और तत्पश्चात् ग्वालियर और चंबल संभागों के लिये शिकायत प्रकोष्ठ के संयोजक के रूप में, और मध्य प्रदेश मानवाधिकार आयोग की छत्रछाया में एक मानवाधिकार कार्यकर्ता के रूप में सक्रिय रूप से वर्ष 2000 से 2004 तक कार्य किया। आपको 7 अप्रैल, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में और 17 मार्च, 2018 को स्थायी न्यायाधीश नियुक्त किया गया।

माननीय श्री न्यायमूर्ति राजीव कुमार दुबे
(DoB.11.10.1960)
कार्यअवधि: (DoA)13/10/2016 to (DoR)10/10/2022
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री राजीव कुमार दुबे

आपका जन्म 11.10.1960 को हुआ। आप व्यवहार न्यायाधीश वर्ग- प्प् के रूप में दिनांक 07.11.1985 से न्यायिक सेवा से जुड़ गये। आपकी दिनांक 30.08.1991 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-प्ए दिनांक 07.10.1994 को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एवं 30.05.1997 को उच्चतर न्यायिक सेवा में कार्यवाहक जिला न्यायाधीश के रूप में पदोन्नति हुयी। आप को दिनांक 01.08.2003 से चयन ग्रेड वेतनमान तथा सुपर समय वेतनमान दिनांक 19.10़.2012 से प्रदान किया गया। आपने विभिन्न पदों पर भिंड, उज्जैन, सागर, नीमच, देवास, रीवा, ब्यावरा, गुना, छतरपुर, झाबुआ, जबलपुर एवं भोपाल में कार्य किया। आपको 13 अक्टूबर, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में और 17 मार्च, 2018 को स्थायी न्यायाधीश नियुक्त किया गया।

माननीय श्रीमति न्यायमूर्ति अंजुली पालो
(DoB.19.05.1961)
कार्यअवधि: (DoA)13/10/2016 to (DoR)18/05/2023
PROFILE



माननीय श्रीमति न्यायमूर्ति अंजुली पालो

आपका जन्म 19.05.1961 को हुआ। आप 05.11.1985 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-प्प् के रूप में नियुक्त की गइंर्। आपको 12.08.1991 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-प्, दिनांक 16.09.1994 को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट/ अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के रूप में पदोन्नत किया गया। आपको दिनांक 09.06.1997 को उच्च न्यायिक सेवा में स्थानापन्न जिला न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया। आपको दिनांक 01.10.2003 से प्रभावी चयन ग्रेड वेतनमान प्रदान किया गया। आपको दिनांक 01.01.2013 से प्रभावी सुपर समय वेतनमान प्रदान किया गया। आपने जबलपुर, जगदलपुर, दुर्ग, सतना, छतरपुर, बड़वानी, छिंदवाड़ा, भोपाल, गुना, डिंडोरी, शिवपुरी, दमोह में विभिन्न पदों पर कार्य किया। आप दिनांक 13 अक्टूबर, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में और 17 मार्च 2018 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुईं।

माननीय श्री न्यायमूर्ति वीरेंदर सिंह
(DoB.15.04.1961)
कार्यअवधि: (DoA)13/10/2016 to (DoR)14/04/2023
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री वीरेंदर सिंह

आपका जन्म 15.04.1961 को हुआ। आप 28.10.1985 को न्यायिक सेवा में व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-प्प् के रूप में पदग्रहण किया। आपको 29.08.1991 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-प्, दिनांक 28.08.1995 को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट/ अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के रूप में पदोन्नत किया गया। आपको दिनांक 31.05.1997 को उच्च न्यायिक सेवा में स्थानापन्न जिला न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया। आपको दिनांक 01.07.2004 से प्रभावी चयन ग्रेड वेतनमान प्रदान किया गया। आपको दिनांक 15.01.2013 से प्रभावी सुपर समय वेतनमान प्रदान किया गया। आपने भिंड, रीवा, दतिया, स्योंधा, गोहद, ग्वालियर, लहार, शाजापुर, मुरैना, कटनी, भोपाल, शहडोल, नई दिल्ली, उज्जैन, जबलपुर में विभिन्न पदों पर कार्य किया। आप दिनांक 13 अक्टूबर, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में और 17 मार्च 2018 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय श्री न्यायमूर्ति विजय कुमार शुक्ला
(DoB.28.06.1964)
कार्यअवधि: (DoA)13/10/2016 to (DoR)27/06/2026
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री विजय कुमार शुक्ला

आपका जन्म 28.06.1964 को हुआ। आप विगत 27 वर्षों से मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय में वकालत कर रहे हैं। आप 27.03.1987 को मध्य प्रदेश राज्य विधिज्ञ परिषद की अधिवक्ता सूची में नामांकित हुए। आपके पिता श्री पी० एन० शुक्ला राज्य सिविल सेवा के प्रथम श्रेणी सेवानिवृत्त शासकीय अधिकारी हैं। आपकी मां एक गृहिणी हैं। आपके चार भाई हैं। आपके सबसे बड़े भाई श्री कमलेश शुक्ला एल० एंड टी० प्राइवेट कंपनी से सेवानिवृत्त हैं और पुणे में निवासरत हैं। आपके दूसरे भाई श्री राजेश शुक्ला एम०एस०ई०बी० मुंबई से इंजीनियर के पद से सेवानिवृत्त हैं। वे भोपाल में निवासरत हैं। आपके तीसरे भाई श्री राकेश शुक्ला सहायक खाद्य अधिकारी के रूप में कार्यरत हैं और रायसेन जिले में पदस्थ हैं। आपकी पत्नी श्रीमति चंद्रिका शुक्ला अधिवक्ता के रूप में नामांकित हैं, किन्तु विधि-व्यवसायरत नहीं हैं। आपके दो बेटे हैं। आपके बडे़ बेटे जय शुक्ला ने भारती विद्यापीठ, पुणे से कानून की उपाधि प्राप्त की है। उन्होंने, वरिष्ठ अधिवक्ता श्री आर० एन० सिंह, पूर्व महाधिवक्ता मध्य प्रदेश, के कार्यालय में जुलाई, 2015 से अधिवक्ता के रूप में जबलपुर में वकालत शुरू कर दी है। आपका छोटा बेटा सुजय शुक्ला जबलपुर में कक्षा 9वीं में पढ़ रहा है। श्री विजय शुक्ला ने मुख्य पीठ जबलपुर के समक्ष संवैधानिक, सेवा, सिविल, और दाण्डिक क्षेत्रों में सक्रिय रूप से वकालत की। आप दिनांक 13 अक्टूबर, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में और 17 मार्च 2018 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय श्री न्यायमूर्ति गुरपाल सिंह आलूवालिया
(DoB.20.02.1966)
कार्यअवधि: (DoA)13/10/2016 to (DoR)19/02/2028
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री गुरपाल सिंह आलूवालिया

आपका जन्म 20 फरवरी, 1966 को हुआ। आप दिनांक 04.07.1988 को अधिवक्ता के रूप में नामांकित हुए। आप भारत के सर्वोच्च न्यायालय, मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय, मुंबई उच्च न्यायालय, गुजरात उच्च न्यायालय, पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय, छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय, ऋण वसूली अपीलीय न्यायाधिकरण, ऋण वसूली न्यायाधिकरण, केन्द्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण, राज्य प्रशासनिक न्यायाधिकरण के सम्मुख उपस्थित हुए। आपने उप-शासकीय अधिवक्ता, शासकीय अधिवक्ता और उप-महाधिवक्ता के रूप में कार्य किया। आप लोकायुक्त/ विशेष पुलिस स्थापना के स्थायी अधिवक्ता और सी० आई० डी०, नागपुर के विशेष लोक अभियोजक रहे। आपने सिविल, दाण्डिक, संवैधानिक और सेवा संबंधी मामलों में वकालत की। आपने विभिन्न आपराधिक विचारण भी किये। आपने आई० एल० आर० मध्य प्रदेश सीरीज के प्रमुख संपादक के रूप में कार्य किया। आप दिनांक 13 अक्टूबर, 2016 को अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में और 17 मार्च 2018 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय श्री न्यायमूर्ति सुबोध अभ्यंकर
(DoB.03.01.1969)
कार्यअवधि: (DoR)13/10/2016 to (DoR)02/01/2031
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री सुबोध अभ्यंकर

आपका जन्म 03 जनवरी, 1969 को हुआ। आप माह जनवरी, 1997, को मध्य प्रदेश राज्य विधिज्ञ परिषद की अधिवक्ता सूची में नामांकित हुए। आप माननीय न्यायाधिपति ने उच्च न्यायालय मध्य प्रदेश, इंदौर खण्डपीठ, में सिविल, दाण्डिक, संवैधानिक, केन्द्रीय उत्पाद शुल्क एवं सीमा शुल्क संबंधी और सेवा संबंधी मामलों में भी विधि व्यवसाय किया, और साथ ही आरंभिक शाखा में वकालत की। आप दिनांक 13 अक्टूबर, 2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में और 17 मार्च 2018 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय श्री न्यायमूर्ति संजय द्विवेदी
(DoB.01.07.1963)
कार्यअवधि: (DoA)19/06/2018 to (DoR)30/06/2025
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री संजय द्विवेदी

आपका जन्म 01 जुलाई, 1963 को हुआ। आप माननीय न्यायाधिपति ने मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय में सिविल, दाण्डिक एवं संवैधानिक आदि मामलों में वकालत की। आप दिनांक 19 जून, 2018 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय श्री न्यायमूर्ति राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव
(DoB.01.01.1960)
कार्यअवधि: (DoA)19/06/2018 to (DoR)31/12/2021
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव

आपका जन्म 01 मार्च, 1960 को हुआ। आप न्यायिक सेवा में 30.01.1986 को पदग्रहण किया। मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय में 19 जून 2018 को न्यायाधीश के रूप में नियुक्त हुए।

माननीय श्री न्यायमूर्ति राजीव कुमार श्रीवास्तव
(DoB.25.11.1960)
कार्यअवधि: (DoA)19/11/2018 to (DoR)24/11/2022
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री राजीव कुमार श्रीवास्तव

माननीय न्यायामूर्ति श्री राजीव कुमार श्रीवास्तव का जन्म 25 नवम्बर, 1960 को हुआ। दिनाँक 04 नवम्बर 1985 को न्यायिक सेवा में पदग्रहण किया। दिनांक 08 सितम्बर, 1992 को व्यवहार न्यायधीश वर्ग -1 तथा दिनांक 20 सितम्बर, 1996 को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट/ अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के रूप में नियुक्त हुए। उच्च न्यायिक सेवा में स्थानापन्न जिला न्यायाधीश के रूप में 05.09.1998 को पदोन्नत हुए। आपको चयन ग्रेड वेतनमान (सिलेक्शन ग्रेड स्केल) दिनांक 11 सितम्बर, 2006 तथा सुपर समय वेतनमान दिनांक 01.02.2015 से प्रदान किया गया। न्यायिक अधिकारी के कार्यकाल के दौरान आप रीवा, राजेन्द्रग्राम, छतरपुर, पिछौर, रायपुर, उज्जैन, मुलताई, जबलपुर, भोपाल, बड़वानी, मुरैना तथा इंदौर में पदस्थ रहे। आपने विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय, विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी न्यायिक अधिकारी प्रशिक्षण तथा अनुसंधान संस्थान, जबलपुर, अतिरिक्त निदेशक न्यायिक अधिकारी प्रशिक्षण तथा अनुसंधान संस्थान जबलपुर, रजिस्ट्रार (प्रशासन), राष्ट्रीय न्यायिक अकादमी में भी कार्य किया। उच्च न्यायालय में न्यायाधिपति के रूप में उन्नयन के पूर्व आप जिला न्यायाधीश, इंदौर के रूप में पदस्थ थे।

माननीय श्री न्यायमूर्ति विशाल धगट
(DoB.14/12/1969)
कार्यअवधि: (DoA)27/05/2019 to (DoR)13/12/2031
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री विशाल धगट

माननीय श्री न्यायमूर्ति विशाल मिश्रा
(DoB.17/07/1974)
कार्यअवधि: (DoA)27/05/2019 to (DoR)16/07/2036
PROFILE



माननीय न्यायमूर्ति श्री विशाल मिश्रा

जन्मतिथिः 17 जुलाई, 1974. योग्यताः आपने महारानी लक्ष्मीबाई महाविद्यालय ग्वालियर से सन् 1997 में बी० कॉम० एवं सन् 2000 में एल० एल० बी० प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की। (दानों जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर मध्य प्रदेश से संबद्ध) अधिवक्ता के रूप में नामांकितः डच्1983/2000 अधिवक्ता मध्य प्रदेश राज्य अधिवक्ता परिषद, जबलपुर (म० प्र०) अनुभवः आपने मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की ग्वालियर खण्डपीठ, जिला न्यायालय दावा अधिकरण, माध्यस्थम् अधिकरण भोपाल, श्रम एवं औद्योगिक न्यायालय एवं ग्वालियर अधिकारिता के अन्य अधीनस्थ न्यायालयों में संवैधानिक, व्यवहार, आपराधिक, दावा, सेवा मामलों में 19 वर्ष तक कार्य किया। आपने वर्ष 2009 से 2011 तथा दो वर्ष की अवधि के लिए मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की ग्वालियर खण्डपीठ में राज्य के शासकीय अधिवक्ता के रूप में कार्यरत रहते हुए राज्य शासन में अपनी सेवाएँ दी। आपने 15.06.2015 से 30.07.2016 तक मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की ग्वालियर खण्डपीठ के लिए मध्य प्रदेश राज्य के उप महाधिवक्ता के रूप में कार्य किया। आपको दिनांक 30.07.2016 को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की ग्वालियर खण्डपीठ के लिए मध्य प्रदेश राज्य के अतिरिक्त महाधिवक्ता के रूप में नियुक्त किया गया एवं आपने दिनांक 17.12.2018 तक मध्य प्रदेश राज्य के अतिरिक्त महाधिवक्ता के रूप में कार्य किया। आपने विभिन्न संस्थानों जैसे मध्य प्रदेश प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड, मध्य प्रदेश सड़क परिवहन निगम, नागरिक सहकारी बैंक मर्यादित ग्वालियर, मध्य प्रदेश गृह निर्माण मण्डल के लिए कार्य किया। कार्यालय प्रस्थितिः आपने उस कार्यालय में कार्य किया जो कि आपके पिता स्वर्गीय न्यायमूर्ति श्री हरगोविंद मिश्रा द्वारा 60 वर्ष से भी अधिक पूर्व स्थापित किया गया था जिसके उत्तरवर्ती न्यायमूर्ति श्री अरूण मिश्रा थे एवं जो तत्पश्चात् आपके द्वारा संभाला गया एवं आपने उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में उन्नयन तक उक्त कार्यालय में अधिवक्ता के रूप में कार्य किया।

माननीय श्री न्यायमूर्ति सतीश कुमार शर्मा
(DoB.25/05/1960)
कार्यअवधि: (DoA)25/11/2021 to (DoR)24/05/2022
PROFILE



माननीय श्री न्यायमूर्ति सतीश कुमार शर्मा

आपने मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश पद की शपथ दिनाँक 25.11.2021 को ग्रहण की।

माननीय श्री न्यायमूर्ति अनिल वर्मा
(DoB.16/03/1964)
कार्यअवधि: (DoA)25/06/2021 to (DoR)15/03/2026
PROFILE



माननीय श्री न्यायमूर्ति अनिल वर्मा

आपका जन्म 16 मार्च 1964 को बिलासपुर (अब छत्तीसगढ़) में हुआ। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय से आप विज्ञान स्नातक हुए तथा पं० रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय से 5 वाँ स्थान प्राप्त करते हुए विधि स्नातक हुए।

अपने पिता श्री के० के० वर्मा (सेवानिवृत्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश) से प्ररित होकर आपने 23 वर्ष 5 माह की युवावस्था में, वर्ष 1987 में, व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2, बालाघाट (म०प्र०) के रूप में, मध्यप्रदेश न्यायिक सेवा में सम्मिलित हुए। आप दिनांक 31.12.1993 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-1 के रूप में तथा 04.06.1997 को मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी के रूप में पदोन्नत हुए।

04.09.1998 को आप उच्चतर न्यायिक सेवा में पदोन्नत हुए। आपको 10.10.2007 को सेलेक्शन ग्रेड व 01.12.2015 को सुपर समय वेतनमान प्रदान किया गया।

33 वर्षां से अधिक के अपने सेवाकाल में आपने माननीय उच्च न्यायालय की रजिस्ट्री, मध्यप्रदेश शासन के सचिवालय तथा कई जिला एवं सत्र न्यायालयों में विभिन्न पदों पर सेवाएं दी हैं।

मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की इंदौर खण्डपीठ में आपने प्रिंसिपल रजिस्ट्रार तथा जिला न्यायाधीश (निरीक्षण) के रूप में सेवाएं दीं। आप जिला एवं सत्र न्यायाधीश, विशेष न्यायाधीश (अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के अधीन) तथा प्रधान न्यायाधीश, कुटुंब न्यायालय सागर के रूप में भी पदस्थ रहे हैं।

आपने सचिव, विधि एवं विधायी कार्य विभाग, मध्यप्रदेश शासन के रूप में भी सेवाएं दी हैं।

आपने अध्यक्ष, जिला उपभोक्ता फोरम, छतरपुर के रूप में सेवाएं दी हैं। इसके अतिरिक्त आप छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, राजनांदगाँव, उमरिया जिलों में विभिन्न फोरम पर विशेष न्यायाधीश (एन० डी० पी० एस० अधिनियम, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम एवं विद्युत अधिनियम के अधीन) के पदों पर भी सेवाएं दी।

अपने दादा स्व० मोतीलाल वर्मा एक प्रतिष्ठित स्वतंत्रता सेनानी की देशभक्ति विरासत को निरंतर रखते हुए आपने भारत की सांस्कृतिक व राष्ट्रीय इतिहास पर अनेक पुस्तकें भी लिखी हैं। इन पुस्तकों में अजेय क्रांतिकारी राजगुरू, सतार टाट और आजाद, भगत सिंह के साथी बटुकेश्वर दत्त, वो चार जाँबाज क्रांतिकारी सम्मिलित हैं। क्रिकेट खेलना सीखें भी आपकी लेखनी की एक प्रसिद्ध कृति है। मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा प्रकाशित पुस्तक “न्यायिक इतिहास एवं मध्यप्रदेश के न्यायालय” में भी आपका सराहनीय योगदान रहा है।

आपने दिनांक 25.06.2021 को मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधिपति के रूप में शपथ ग्रहण की।

माननीय श्री न्यायमूर्ति अरुण कुमार शर्मा
(DoB.29/07/1961)
कार्यअवधि: (DoA)25/06/2021 to (DoR)28/07/2023
PROFILE



माननीय श्री न्यायमूर्ति अरुण कुमार शर्मा

आपका जन्म दिनाँक 29.07.1961 को विदिशा (म.प्र.) में हुआ। आपने विज्ञान और विधि में स्नातक की शिक्षा पूर्ण की। आपने दिनाँक 27.08.1987 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2 के रूप में न्यायिक सेवा में सम्मिलित हुए। इसके पश्चात दिनाँक 13.06.1994 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-1 के रूप में पदोन्नत हुए, दिनाँक 09.06.1997 को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) के रूप में कार्य किया। आपको दिनाँक 02.06.1999 को उच्च न्यायिक सेवाओं में कार्यवाहक जिला न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया। दिनाँक 10.10.2007 से चयन ग्रेड वेतनमान और 11.04.2016 से सुपर समय वेतनमान प्रदान किया गया। आपने सागर, नसरूल्लागंज, सीहोर, बागली (देवास), उज्जैन, इंदौर, सबलगढ़ (मुरैना),आगर-मालवा, भोपाल,टीकमगढ़ और इंदौर स्थानों पर विभिन्न पदों पर न्यायिक अधिकारी के रूप में अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया।

आपने जिला टीकमगढ़ और छतरपुर में प्रधान जिला न्यायाधीश के रूप में कार्य किया। आपने प्रधान न्यायाधीश, कुटुम्ब न्यायालय, छतरपुर और उप कल्याण आयुक्त, भोपाल गैस पीड़ित, भोपाल में भी अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया।

माननीय न्यायाधिपति महोदय को दिनांक 25.06.2021 को मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के पद की शपथ दिलाई गयी।

माननीय श्री न्यायमूर्ति सत्येंद्र कुमार सिंह
(DoB.24/10/1961)
कार्यअवधि: (DoA)25/06/2021 to (DoR)23/10/2023
PROFILE



माननीय श्री न्यायमूर्ति सत्येंद्र कुमार सिंह

आपका जन्म दिनाँक 24.10.1961 को हुआ। आपका मूल स्थान सवईया पट्टीदारी जिला चंदौली (तत्कालीन वाराणसी) है। आपने विद्यालयीन शिक्षा लखनऊ से, 1981 में बी.एस.सी लखनऊ विश्वविद्यालय से व उसके पश्चात् 1984 में विधि स्नातक इलाहाबाद विश्वविद्यालय से उत्तीर्ण की।

आप मध्यप्रदेश न्यायिक सेवा में, जिला सतना में दिनांक 03.11.1987 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2 के रूप में शामिल हुए। आप दिनांक 13.06.1994 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-1 के रूप में इंदौर में व भापाल में दिनांक 08.06.1998 को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के रूप में पदोन्नत हुए। आप दिनांक 04.06.1999 को भोपाल में कार्यकारी जिला न्यायाधीश के रूप में उच्च न्यायिक सेवा में पदोन्नत हुए। आपको चयन वर्ग (सेलेक्शन ग्रेड) दिनांक 10.10.2007 से व उच्च समयमान वेतनमान (सुपर टाईम स्केल) दिनांक 01.07.2016 से प्रदत्त हुआ। आपने विशेष न्यायाधीश (एस. सी./एस.टी.) उज्जैन व जिला न्यायाधीश (वर्तमान पदावली मुख्य जिला न्यायाधीश) जिला अलीराजपुर व उज्जैन के रूप में कार्य किया। आप लखनादौन, इंदौर, मैहर, सागर में विभिन्न पदों पर न्यायिक अधिकारी के रूप में सेवाएँ प्रदान की।

आप अपने कर्तव्य निर्वहन के दौरान म.प्र. उच्च न्यायालय में रजिस्ट्रार (सतर्कता) व प्रिंसिपल रजिस्ट्रार (सतर्कता) एवं विधि एवं विधायी कार्य विभाग भोपाल में अपर सचिव व प्रमुख सचिव जैसे प्रमुख पदों पर आसीन रहे ।

माननीय न्यायाधिपति महोदय को दिनांक 25.06.2021 को मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के पद की शपथ दिलाई गयी।

माननीय श्रीमती जस्टिस सुनीता यादव
(DoB.13/01/1963)
कार्यअवधि: (DoA)25/06/2021 to (DoR)12/01/2025
PROFILE



माननीय श्रीमती जस्टिस सुनीता यादव

आपका जन्म 13.01.1963 को हुआ था; आपने विधि की शिक्षा वर्ष 1986 में रविशंकर विश्वविद्यालय, रायपुर से पूर्ण की, आप 07.09.1987 को जिला रायपुर (तत्कालीन मध्यप्रदेश का भाग) में व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2 के रूप में मध्यप्रदेश न्यायिक सेवा में सम्मिलित हुयी। आपको 13.06.1994 को व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-1 जिला रायपुर के रूप में एवम् 09.06.1997 को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (ब्श्रड) के रूप में पदोन्नत किया गया था। आपको दिनांक 27.07.2000 को जिला भोपाल में उच्च न्यायिक सेवा में कार्यवाहक जिला न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया था। आपको 01.08.2008 से चयन ग्रेड वेतनमान और 01.10.2016 से सुपर समय वेतनमान दिया गया था। आपने अशोकनगर और दतिया में जिला न्यायाधीश ( वर्तमान में नामकरण प्रधान जिला न्यायाधीश के रूप में किया जाता है) के रूप में कार्य किया। आपने सतना, डबरा, छतरपुर, ग्वालियर, मुरैना विभिन्न स्थानों पर न्यायिक अधिकारी के रूप में कार्य किया।

आपने आयुक्त, भोपाल गैस पीड़ित, भोपाल में उप कल्याण आयुक्त के रूप में और दिल्ली विद्युत नियामक आयोग, नई दिल्ली, के कार्यकारी निदेशक (विधि) के रूप में अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया है।

आपका विवाह श्री एस० पी० यादव, भारतीय वन सेवा, से हुआ है जो वर्तमान में प्रोजेक्ट टाइगर के अतिरिक्त महानिदेशक के रूप में पदस्थ हैं; पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली में राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के सदस्य सचिव और भारत सरकार में सदस्य सचिव, केन्द्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण का अतिरिक्त प्रभार है।

आपको 25.06.2021 को मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में शपथ दिलायी गयी।

माननीय श्री न्यायमूर्ति दीपक कुमार अग्रवाल
(DoB.21/09/1961)
कार्यअवधि: (DoA)25/06/2021 to (DoR)20/09/2023
PROFILE



माननीय श्री न्यायमूर्ति दीपक कुमार अग्रवाल

आपका जन्म 21.09.1961 को हुआ। आपने वर्ष 1981 में विज्ञान से स्नातक की शिक्षा पूर्ण की तथा वर्ष 1985 में विधि की शिक्षा पूर्ण की। आप व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2 के रूप में दिनांक 01.09.1987 से न्यायिक सेवा में सम्मिलित हुए। आप वर्ष 1994 में व्यवहार न्यायाधिश वर्ग-1 तथा वर्ष 1997 में ब्श्रडध्।ब्श्रड के रूप में पदोन्नत हुए। आप कार्यवाहक जिला न्यायाधीश के रूप में उच्चतर न्यायिक सेवा में वर्ष 2000 में पदोन्नत हुए। आपको वर्ष 2009 से चयन ग्रेड वेतनमान तथा वर्ष 2016 में सुपर समय वेतनमान प्रदान किया गया। न्यायिक अधिकारी के रूप में कार्यकाल के दौरान आपने विभिन्न पदों पर नरसिंहपुर, लखनादौन (सिवनी), रतलाम, इंदौर, वारासिवनी (बालाघाट), सागर, होशंगाबाद, मंडला, भिंड, बालाघाट तथा ग्वालियर में कार्य किया। उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में उन्नयन के पूर्व आप जिला न्यायाधीश ग्वालियर के रूप में पदस्थ थें।

माननीय न्यायाधिपति महोदय को मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में दिनांक 25.06.2021 को शपथ दिलायी गयी।

माननीय श्री न्यायमूर्ति राजेन्द्र कुमार (वर्मा)
(DoB.01/07/1961)
कार्यअवधि: (DoA)25/06/2021 to (DoR)30/06/2023
PROFILE



माननीय श्री न्यायमूर्ति राजेन्द्र कुमार (वर्मा)

आपका जन्म दिनाँक 01.07.1961 को नगर लखना जिला इटावा (उ०प्र०) में हुआ। आपने विधि की शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय से प्राप्त की। आप दिनाँक 28.09.1987 को न्यायिक सेवा में सम्मिलित हुए। आप दिनाँक 09.06.1994 को व्यवहार न्यायाधिश वर्ग-1 नियुक्त किए गए। तत्पश्चात् आपने दिनाँक 24.10.1997 से गुना जिले में मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी के रूप में कर्यतव्यों का निर्वहन किया। दिनाँक 31.07.2000 को आप कार्यवाहक जिला न्यायधीश के रूप में उच्चतर न्यायिक सेवा में पदोन्नत किए गए तथा महासमुंद (तत्कालीन मध्यप्रदेश का भाग), ग्वालियर, बुरहानपुर, व्यावरा और देवास आदि स्थानों में पदस्थ रहे। आपने अलीराजपुर, राजगढ़ तथा भोपाल के जिला न्यायालयों में प्रधान जिला न्यायाधीश के रूप में सेवाएँ दी हैं। आपने भिंड, श्योपुर, शेउडा, अलीराजपुर, तराना, ग्वालियर, बुरहानपुर, व्यावरा जैसे स्थानों पर विभिन्न क्षमताओं में न्यायिक अधिकारी के रूप में सेवाएँ दी हैं। आपने जिला उपभोक्ता मंच, खण्डवा के पीठासीन अधिकारी तथा कुटुंब न्यायालय भोपाल के प्रधान न्यायाधीश के रूप में कार्यरत रहते हुए अपने कर्यतव्यों का निर्वहन किया है। आपने मध्यप्रदेश शासन के विधि एवँ विधायी कार्य विभाग, भोपाल में सचिव का पद भी धारण किया है।

आपने मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश पद की शपथ दिनाँक 25.06.2021 को ग्रहण की।

माननीय श्री न्यायमूर्ति प्रणय वर्मा
(DoB.12/12/1973)
कार्यअवधि: (DoA)27/08/2021 to (DoR)11/12/2035
PROFILE



माननीय श्री न्यायमूर्ति प्रणय वर्मा

आपने मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश पद की शपथ दिनाँक 27.08.2021 को ग्रहण की।

माननीय श्री न्यायमूर्ति पुरुशेंद्र कुमार कौरव
(DoB.04/10/1976)
कार्यअवधि: (DoA)08/10/2021 to (DoR)03/10/2038
PROFILE



माननीय श्री न्यायमूर्ति पुरुशेंद्र कुमार कौरव

आपने मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश पद की शपथ दिनाँक 08.10.2021 को ग्रहण की।

DoB - Date of Birth
DoA - Date of Appointment
DoR - Date of Retirement